MS Word References Tab in Hindi | MS Word Tutorial

एमएस वर्ड के रेफेरेंस टैब का उपयोग

इस ट्यूटोरियल में, हम आपको MS Word के रेफेरेंस टैब के बारे में बताएँगे। MS Word का रेफेरेंस टैब आप कीबोर्ड से Alt + S दबाकर सक्रिय कर सकते हैं, या आप इसे माउस द्वारा भी उपयोग कर सकते हैं।
MS Word References Tab
रेफेरेंस टैब को कई समूहों में विभाजित किया गया है। प्रत्येक समूह में एक विशेष कमांड से संबंधित बटन होती है। आप माउस के माध्यम से इन कमांड का उपयोग कर सकते हैं। नीचे हम आपको बताएंगे कि रेफेरेंस टैब में कितने समूह हैं? और प्रत्येक समूह में उपलब्ध कमांड के कार्य क्या हैं?

रेफेरेंस टैब के समूह (Group) के नाम और उनके कार्य

MS Word References Tab
MS Word References Tab
रेफेरेंस टैब में 6 समूह होते हैं। इन्हे निचे दिखाए गए स्क्रीन शॉट में देख सकते है। इन समूहों के नाम क्रमशः Table of Contents, Footnotes, Citations & Bibliography, Captions, Index, और Table of Authorities  हैं। अब आप रेफेरेंस टैब समूहों से परिचित हैं। आइए अब प्रत्येक समूह के काम को जानते हैं।

1. Table of Contents (सामग्री की तालिका)

Table of Contents Group की मदद से हम आसानी से Table of Contents यानि इंडेक्स बना सकते हैं, जिसे हमारे Word Document में Table of Contents कहा जाता है। और ये विषय क्लिक करने योग्य (Clickable) होती हैं। बस उस Particular Lesson पर क्लिक करें जिसे आप पढ़ना चाहते हैं, और आप सीधे उसी पाठ तक पहुंच जायेंगे ।

2. Footnotes (फुटनोट्स)

फ़ुटनोट्स ग्रुप के साथ, आप अपने दस्तावेज़ के बारे में अतिरिक्त जानकारी परिशिष्ट (Supplement) जोड़ सकते हैं, जो आपके दस्तावेज़ को अधिक विश्वसनीय बनाता है। दस्तावेज़ के फ़ुटनोट्स और एंडनोट्स अंत में जोड़ा जाता हैं।

3. Citations & Bibliography (सिटेशन एन्ड बिबलियोग्राफी)

यदि आपके डॉक्यूमेंट में किसी और का काम है या आप अपने दस्तावेज़ में मौजूद जानकारी के स्रोतों के बारे में अपने पाठकों को बताना चाहते हैं। तो फिर इस समूह का प्रयोग कर सकते है। आप अपने डॉक्यूमेंट के अंत में सिटेशन एन्ड बिबलियोग्राफी समूह द्वारा रेफेरेंस दे सकते हैं।

4. Captions (कैप्शन)

यदि आपके डॉक्यूमेंट में चित्र हैं तो आप प्रत्येक चित्र को कैप्शन द्वारा उसका नाम दे सकते हैं। जिससे तस्वीर को समझने में आसानी हो। जिस तरह से हम डॉक्यूमेंट में सामग्री की तालिका (Table of Contents) बनाते हैं। इसी तरह, कैप्शन के द्वारा Table of Figures भी बना सकते हैं। इस टेबल का कार्य डॉक्यूमेंट में उपलब्ध सभी पिक्चर्स को एक सूची में रखना होता है।

5. Index (इंडेक्स )

आप डॉक्यूमेंट के प्रत्येक पेज के लिए अलग-अलग इंडेक्स भी बना सकते हैं। जिस तरह से आप टेबल्स बनाते हैं, जो पूरे दस्तावेज़ के लिए होते है। इसी तरह आप किसी पेज या टॉपिक के लिए भी इंडेक्स बना सकते हैं। आप इसे विषयों की सूची (List of Topics) भी कह सकते हैं।

6. Table of Authorities (टेबल्स ऑफ़ ऑथोरिटीज)

आप अपने डॉक्यूमेंट में प्राधिकरण की तालिका (Table of Authorities) भी बना सकते हैं। इसका मालाब यह है की आप जिन स्रोतों का आपने अपने डॉक्यूमेंट में समर्थन किया है अर्थात जिन स्रोतों का सहारा लिया हैं, आप उन सभी मामलों, क़ानूनों और प्राधिकरणों (Cases, Statutes and Authorities) की एक सूची बना सकते हैं।

प्रकाशक की तरफ से 

तो दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से एमएस वर्ड के रेफेरेंस टैब का उपयोग के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है और उम्मीद है कि इससे आपको कुछ जानकारी जरूर मिली होगी, और यह पोस्ट आपको वेहद ही पसंद आई होगी। दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसा लगा, इसमें क्या सुधार करने चाहिए या फिर इस पोस्ट में कुछ छुटी हो तो कमेंट में जरूर बताएं। यदि यह पोस्ट आपको अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि उन्हें भी यह जानकारी मिल सके।
धन्यवाद !

disclaimer: इस आर्टिकल का प्रमुख उदेश्य शिक्षा प्रदान करना है। इस आर्टिकल के माध्यम से इस में दिए गए किसी भी वेबसाइट या अप्प के लिंक को बढ़ावा नहीं देता है.(The main purpose of this article is to provide education. Through this article, it does not promote links to any websites or apps given in it.)


Leave a Comment